Arya Sanskriti Kendra

Reliving the spirit of OM.

21 Posts

31 comments

ASK


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10370 postid : 29

कार्टून विवाद – Jagran Junction Forum

Posted On: 21 May, 2012 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अगर कार्टून के माध्यम से बाबा साहब अंबेडकरका अपमान किया गया होता तो बाबा साहेब स्वयम इस पर अपना विरोध प्रगट करते | ।, जो संविधान सभा के अध्यक्ष थे, इस कार्टून में यह दर्शाया गया है कि बाबा साहब एक घोंघे के ऊपर बैठे हैं, जिसे संविधान का नाम दिया गया, और उनके पीछे चाबुक लिए जवाहरलाल नेहरू चल रहे हैं। यह कार्टून बाबा साहब अंबेडकर के संविधान सभा अध्यक्ष होने पर यां उनकी काबीलियत पर आघात नहीं करता करता अपितु संविधान बनने में देरी पर कटाक्ष करता है |
आज जब देश ऐसे हालत में गुजर रहा है की केंद्रीय सरकार भ्रष्ट, निकम्मी, बेबस और सब तरफ से फेल साबित हो रही है, तो कुर्सी पर बने रहने के लिये रूलिंग पार्टी की चंडाल चौकड़ी जनता का ध्यान मुख्य मुद्दों से हटाने के लिये और संसद का वक़्त बर्बाद करने के लिये गड्ढ़े मुर्दों को उखाड़ रही है | दलित नेता बाबा साहब के माध्यम से दलितों को उक्साया जा रहा है | मायावतीजी की राजनितिक माया को भी इस से फ़ायदा ही फ़ायदा है | श्रदये भीम राव अम्बेडकरजी जैसी महान हस्ती को विवाद में लाना सराहनीय नहीं है | १९४६ का कार्टून विवादका मसला ही नहीं है और ऐसे तो हर कार्टून पर विवाद खड़ा किया जा सकता है | बाबा साहब अंबेडकर को दलित कहनेवाले केवल अपनी रोटी सेकना चाहते हैं, अपना वोट बैंक कायम रखना चाहते हैं यां फिर आम जनता को बहकाना चाहते है | असल में भ्रष्ट राजनेता अपनी बिगडती हुई छवि और डूबती हुई नय्या से बेहद परेशान है |



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

ASK के द्वारा
June 29, 2012

आप ठीक कहते है केवल  देशभगत बुद्धिजीवों को मालूम हैं समस्या क्या और कहां है ? आम जनता तो बुरी तरह से ठगी जा रही और रोटी, कपडा और मकान का जुगाढ़ करने में ही उसको फुर्सत नहीं है | सियासत के चोंचले सिर्फ़ भ्रष्ट राजनेताओं और उनके गुगों को ही आते हैं |

अजय कुमार झा के द्वारा
May 22, 2012

ये सब सिर्फ़ सियासत के चोंचले हैं जी वर्ना सबको पता है कि आज समस्या क्या और कहां है


topic of the week



latest from jagran