Arya Sanskriti Kendra

Reliving the spirit of OM.

21 Posts

31 comments

ASK


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

कर्मों का साक्षी l

Posted On: 10 Feb, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

मेरे नाना – नानी और आज़ाद भारत

Posted On: 10 Feb, 2014  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others Politics social issues में

0 Comment

“Jagran Junction Forum” सोशल मीडिया का डर l

Posted On: 23 Sep, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others Politics social issues न्यूज़ बर्थ में

3 Comments

मुल्ला-यम चले प्रधान मंत्री बनने – 2

Posted On: 13 Sep, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Contest Entertainment Hindi News Infotainment में

1 Comment

मुल्ला यम चले प्रधान मंत्री बनने |

Posted On: 27 Sep, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

धर्म का मर्म |

Posted On: 26 Jul, 2012  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

पॉलिटिकल एक्सप्रेस लोकल टिकेट में

2 Comments

Page 1 of 3123»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा: ASK ASK

के द्वारा: Pradeep Kesarwani Pradeep Kesarwani

के द्वारा: rekhafbd rekhafbd

के द्वारा: deepaksharmakuluvi deepaksharmakuluvi

दोस्तों जिस तरह अन्ना का पन्ना बंद हुआ हमें उससे शिक्षा लेनी चाहिए: १.जो मीडिया की वजह से जीते हैं वो मीडिया की वजह से मर जाते हैं. २.हमेशा स्वहित से ऊपर देशहित को रखना चाहिए . ३.हिंदी,हिन्दू और हिंदुस्तान का कोई विकल्प नहीं . ४.दुसरे के(राजीव दिक्सित और बाबा रामदेव के जन जागरण) किये कार्य का श्रेय नहीं लेना चाहिए . ५.लोगों के बिच भ्रम(लोकपाल पर दो बार झूठी जीत और लोकपाल को हर मर्ज की दवा बताना) फैलाकर हासिल की गयी लोकप्रियता टिकाऊ नहीं होती. ६.अच्छे लोगों(बाबा रामदेव और मोदी) को बुरा बता कर लोकप्रियता हासिल नहीं की जाती. ७.स्वदेशी के बिना स्वराज अधुरा होता है इसलिए निबुज्ज पी कर अनसन न तोड़े . ८.बिना पूरी तैयारी और जानकारी के कोई काम न करें. अब सब मैं ही बोलूँगा आप कुछ नहीं बोलोगे ..?

के द्वारा: surendra surendra

के द्वारा: jagojagobharat jagojagobharat

के द्वारा: jagojagobharat jagojagobharat




latest from jagran